KYC क्या होता है और KYC का Full Form क्या है ?

दोस्तों आज हम लोग इस आर्टिकल के माध्यम से ये जानेंगे कि KYC क्या होता है और KYC का Fullform क्या है। आप लोगों ने तो KYC का नाम जरूर ही सुना होगा इस समय में आप कोई भी काम करने जाएंगे जैसे कि Loan लेना,Bank में खाता खुलवाना,Wallet Open करना, Locker लेना Credit Card बनवाना Mutual Fund खरीदना Post Office और Bima इत्यादि लेने पर KYC form भरने की आवश्यकता पढ़ती है।

यदि आप अब कोई New SIM Card लेते हैं तो उसमे भी आपको अपना KYC कराना पड़ता है और आप कोई भी Wallet बनवाते है तो जैसे Paytm Wallet हो गया या Phonepey हों गया या फिर Googlepay हो गया है इन सारे में भी अब आपको KYC कराना पड़ता है और जब तक आप अपना Docoment नहीं दोगे तब तक अपका Wallet Active नहीं होगा।

KYC का Fullform क्या है (KYC Full Form in Hindi)

दोस्तों चलिए जान लेते हैं कि KYC का Full Form क्या होता है

  • K—Know (जानना)
  • Y—Your (अपने)
  • C—Customer (ग्राहक)

तो दोस्तों KYC का Fullform होता है Know Your Customer और इसका मतलब है कि अपने ग्राहक को जानना। और इसलिए कोइ भी वित्तीय संस्थान या Bank आपको KYC Form भरने को कहती है ताकि वो आपके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सके और उसके साथ साथ आपका सारा डाटा भी अपने यहां Save कर सकें। ताकि आगे चल के Future में ऐसा कुछ भी Problem आता है तो आपका Data आपको दिखाया जा सके।

KYC क्या होता है और KYC का Form क्यूं भरवाया जाता है ?

दोस्तों कोई भी वित्तीय Sanstha या Bank आपके बारे में सारी जानकारी इकट्ठा करने के लिए आपसे कुछ ऐसे document मांगती है जिससे ये स्थापित हों सके कि आपका Address कहां है और आपका नाम पता क्या है और उसी को हम लोग KYC कहते हैं।KYC का Use वित्तीय संस्थाएं अपने Customer के पहचान के लिए सत्यापित (Identity Verify) करती हैं।

तो KYC RBI के द्वारा शुरु की गई इस प्रकार की Bank Customer की Identification होती हैं। जोकि Company या Bank आदि सारे संस्थाओं ग्राहकों को अपनी सेवाएं देने से पहले उनकी पहचान Verification कराना चाहती है और इसी प्रक्रिया के लिए संस्थाएं KYC का Use करती हैं, और KYC के द्वारा सभी Customer की पहचान (Id Verification) और उसका पता (Address Verification) कराती हैं।

कोई भी Bank या कोई भी वित्तीय संस्थाओं द्वारा किसी से भी KYC Form इस लिए भी भराई जाती है कि आप Bank के साथ कोई भी धोखाधड़ी या फिर कोई गलत काम या चोरी ना कर सके और आप कोई गलत काम करते हों तो आपको बहुत ही आसानी से पकड़ा जा सके।

KYC कितने प्रकार की होती है?

दोस्तों आपको बता दें कि KYC दो प्रकार का होता है लेकिन दोनों KYC का काम मानो तो एक ही है जैसे आपके बारे में Information इकट्ठा करना और आपके बारे में बहुत सारी Digitally Information लेने होते हैं और कुछ Physical Information भी लेना होता है। आइए जानते हैं KYC के दो प्रकार कौन-कौन से हैं।

  • E KYC
  • C KYC

eKYC क्या होता है और इसका Fullform क्या है ?

दोस्तों E KYC का Fullform होता है “Electronic Know Your Customer”। और ये Digital प्रकार से सारे Customer से KYC के बारे में जानने का Best तरीका है और अधिकतर Aadhar Card Best E KYC भी होता है। और इस E KYC में कागजात की कोई भी जरूरत नहीं पड़ती हैं, और इसमें आपको Biometric Device पे अपना अंगूठा लगाना होता है जिससे कि आपका पूरा Data match होके तुरंत सामने आ जाता है।और आधार E KYC एक Paperless KYC प्रक्रिया होता है, जोकि आपकी Id Proof पता Address Proof और अन्य प्रकार का प्रमाण Electronic माध्यम से प्रमाणित करता है।

CKYC क्या होता है और इसका Fullform क्या है?

दोस्तों CKYC का Fullform होता है “Central Know Your Customer”और C KYC India के सभी Bank और वित्तीय संस्थाओं द्वारा किए जाते हैं पर जो KYC केंद्रीय स्तर पर किए जाते हैं उन्हें हम Central KYC या फिर C KYC भी कहते हैं।Central KYC का Use Mutual Funds Company, Bima Company And NBFC आदि के द्वारा भी किया जाता है।

KYC के लिए जरूरी Documents

इन सारे Document में से किसी भी एक Document को देकर आप अपना KYC Bank को या फिर किसी भी अन्य वित्तीय संस्थान में करवा सकते हैं।

  • PAN Card से
  • Passport से
  • Aadhar Card से
  • Voter Identity Card से
  • Drivery Licence से
  • Nrega Job Card से

तो दोस्तों बता दें कि आपको किसी भी Bank में KYC करवाने के लिए आपको Bank के तरफ से Form मिलेगा और उस Form को भरके आपको अपना PAN Card या Aadhar Card या फिर Address Proof का Photocopy को लगवा कर Bank में जमा कर देना होता है, और फिर जमा करने के बाद आपका KYC हो जायेगा। और बहुत बार ऐसा होता है कि KYC ना होने के कारण आपका Bank Account Hold या Stop कर दिया जाता है और आप इनमें से कोई भी Document देकर अपनी KYC करवा सकते हो, और आपका Account Hold या Stop नहीं होगा।

क्या सीखा (In Conclusion)

मित्रों उम्मीद करता हूं कि आपको हमारे इस आर्टिकल (KYC क्या होता है और KYC का Full Form क्या है) से कुछ सीखने को मिला होगा और यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर Share करें। इस आर्टिकल से संबंधित अगर आपका कोई राय या सुझाव है तो आप Comment में पूछ सकते हैं। धन्यवाद!

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.